NRC Bill Kya Hai ,क्यों मचा है इस पर हंगामा, पूरी जानकारी

NRC Bill (National Register of Citizenship) Kya Hai 

Nrc Bill Kya Hai :आज पूरे देश में NRC(National Register of Citizenship) Bill  को लेकर हंगामा मचा हुआ ,लोग भी इन्टरनेट पर Nrc Kya Hai 2019 , Nrc Bill Kya Hai ,एन आर सी का मतलब क्या है,Nrc का Full फॉर्म ,Nrc Bill Kya hai In Hindi से समबन्धित जानकारी प्राप्त करने की कोशिस कर रहे है ,अगर आप भी Nrc Bill Kya Hai ,जानना चाहते है तो इस पोस्ट में Nrc की पूरी जानकारी प्रदान की गयी है.

NRC Bill Kya Hai
NRC Bill Kya Hai

NRC(National Register of Citizenship) बिल क्या है ,क्यों मचा है इस पर हंगामा

NRC(भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) का मतलब नागरिकता से है ,नागरिक उसे कहते है जिसे देश के सरकार द्वारा उस व्यक्ति सभी मूल अधिकार प्रदान किये जाते है ,नागरिक ही देश में सरकारी नौकरी और वोट दे सकते है ,बाकि जो देश के नागरिक नही है उन्हें  सरकारी नौकरी और वोट देने का अधिकार नही है .आज का NRC Bill  मुख्यता देश में असम राज्य से जुड़ा हुआ है

बताया जाता है कि देश की पूर्वी सीमा पर स्थित भारत के असम राज्य में पड़ोसी देश के नागरिक आकर बस रहे है ,ऐसे में हमें जरुरत है हमे अपने देश के नागरिको के पहचान की ,क्योकि दुसरे देश से आये व्यक्ति अगर हमारे देश में बसते गए तो हमारे लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है  जिसके लिए यह जानना आवश्यक हो गया है कि कौन भारत का नागरिक और कौन विदेशी है | इसे पहले भी भारत में कई बार आतंकी हमला हुआ है ,ऐसे में जरुरत है हमे अपने देश के नागरिको की पहचान की .इसके लिए संविधान में नागरिकता सम्बन्धी कानून बनाये गए है,इसे ही NRC (National Register of Citizenship) कहते है . इस पेज पर NRC बिल क्या है, National Register of Citizenship (NRC),Nrc Bill Kya Hai in Hindi, के विषय में जानकारी प्रदान की जा रही है .

इसे भी जाने 

NRC बिल क्या है (What is NRC )

NRC एक प्रकार का नागरिकता सम्बन्धी रजिस्टर है ,जिसमे नागरिकता सम्बन्धी नियम व क़ानून बनाये गए ,1951 में ही नागरिकता सम्बन्धी नियम बनाये गए थे ,इस रजिस्टर में दर्ज सभी व्यक्तियों को भारत का नागरिक माना गया था | NRC (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस) (एनआरसी) में जिस व्यक्ति का नाम दर्ज नहीं होता है ,उसे देश अवैध नागरिक माना जाता है .

उसमे जिसका भी नाम शामिल नही है ,उसे भारत की नागरिकता प्रदान नही की जायेगी ,असम राज्य में NRC (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस) को ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन के द्वारा वर्ष 1975 आवाज उठाई गयी थी .

एनआरसी वो प्रक्रिया है जिसके जरिए देश में गैर-कानूनी तौर पर रह रहे अवैध घुसपैठियों को पहचान की जाती है ,अभी हाल में ही देश के गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसे अवैध लोगों को देश से बाहर निकालने की जरुरत है .

नागरिकता संशोधन बिल क्या होता है। क्यों मचा है इस पर हंगामा/ NRC बिल चर्चा में क्यों है .

Know what is NRC: असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का अंतिम ड्रॉफ्ट जारी होने के बाद से विपक्ष हमलावर हो गया है जिसके बाद संसद में Nrc Bill को लेकर हंगमा मचा हुआ है , दरअसल असम के नागरिक के रूप में 40 लाख लोगों का नाम इसमें नहीं है। इसमें शामिल होने के लिए 3.29 करोड़ लोगों ने आवेदन किया था, जिसमें से 2.89 लाख लोगों को शामिल किया गया। यहां यह जानना जरूरी है कि ये पूरा मसला क्या है। Nrc Bill के हिसाब से 25 मार्च, 1971 से पहले असम में रह रहे लोगों को भारतीय नागरिक माना गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने एनआरसी बिल अपडेट करने का दिया था आदेश

असम में बांग्लादेश से आए घुसपैठियों पर बवाल के बाद सुप्रीम कोर्ट ने एनआरसी अपडेट करने को कहा था। पहला रजिस्टर 1951 में जारी हुआ था। ये रजिस्टर असम का निवासी होने का सर्टिफिकेट है। इस मुद्दे पर असम में कई बड़े और हिंसक आंदोलन हुए हैं। 1947 में बंटवारे के बाद असम के लोगों का पूर्वी पाकिस्तान में आना-जाना जारी रहा। 1979 में असम में घुसपैठियों के खिलाफ ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन ने आंदोलन किया। इसके बाद 1985 को तब की केंद्र में राजीव गांधी सरकार ने असम गण परिषद से समझौता किया। इसके तहत 1971 से पहले जो भी बांग्लादेशी असम में घुसे हैं, उन्हें भारत की नागरिकता दी जाएगी।

2015 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इसमें तेजी आई। इसके बाद असम में नागरिकों के सत्यापन का काम शुरू हुआ। राज्यभर में एनआरसी केंद्र खोले गए। असम का नागरिक होने के लिए वहां के लोगों को दस्तावेज सौंपने थे।

राजनाथ सिंह ने कहा कि हो सकता है कि कुछ लोग अनिवार्य दस्तावेज जमा ना करा पाए हों तो उन्हें दावों और आपत्तियों की प्रक्रिया के जरिए पूरा मौका दिया जाएगा। दावों और आपत्तियों के निस्तारण के बाद ही अंतिम एनआरसी लिस्ट जारी किया जाएगा और यहां तक कि इसके बाद भी हर व्यक्ति को विदेशी न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटाने का मौका मिलेगा। Nrc Bill संसद में पेश किये जाने के बाद विरोधी दलों ने इस बिल का विरोध करना शुरू किया ,जबकि केंद्र सरकार के अनुसार अंतिम एनआरसी बिल 31 दिसंबर से पहले जारी की जा सकती है।

 

आज पूरे देश भर में Nrc Bill को लेकर हंगामा मचा हुआ है ,कुछ लोग इसे देश को बाटने की निति ,तो कोई इसे जिन्ना का सपना बता कर विरोध जता रहे है ,लोग भी इन्टरनेट पर Nrc Bill Kya Hai ,NRC बिल की जानकारी इन हिंदी में जानने की कोशिस कर रहे है ,मैंने इस पोस्ट में NRC की पूरी जानकारी प्रदान करने की कोशिस की है ,फिर भी अगर आपको इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो कमेंट में पूछ सकते है .ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद !

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.